जानिए देश का पेट भरने वाला अन्नदाता(किसान) क्यों मजबूर है आत्महत्या करने को :-सुरेश वर्मा(कुंदनपुरा, हिसार)

बेचारा किसान एक जमाना था जब कहते थे “जय जवान-जय किसान”। लेकिन समय के साथ साथ किसान पिछड़ता जा रहा

अपनी काबलियत को पहचानो(प्रेरणादायक कहानी):-सुरेश वर्मा

अपनी काबलियत को पहचानो एक बार एक चील आकाश में उड़ राशि थी, जोकि पेट से गर्भवती थी। अचानक उसे

ज़िन्दगी का सफर (दिल को छू लेने वाले सुविचार जरूर पढ़ें)

लौट जाता हूँ वापस घर की तरफ हर रोज थका-हारा… आज तक समझ नहीं आया की काम करने के लिए

क्रोध(एक प्रेरणादायक कहानी) जरूर पढ़ें।

एक बार एक राजा घने जंगल में भटक जाता है जहाँ उसको बहुत ही प्यास लगती है । इधर उधर