जीने की तमन्ना होगी,आश जगा कर तो देख(प्रेरणादायक कविता):-विकास वर्मा,कुन्दनपुरा

अगर जीने की तमन्ना हैं,
एक आशा जगा के देख,
अगर जीने की तमन्ना हैं,
एक आशा जगा के देख।
चारों तरफ हरियाली हैं,
एक नजर उठाके देख। एक दर्द उठ रहा हैं दिल में,
किसी को अपना बना के तो देख।
छोड़ मिलावटखोरी बाजार की,
DNM का शुद्ध राशन खा के देख।
रोग दूर होंगे जो कभी दिखती मौत थी,
अ मुसाफ़िर एक बार विश्वास जगा के तो देख।
अब गिला शिकवा मत करना परमात्मा से,
कि रास्ता नहीं मिला।
जरा हाथ से हाथ मिला के तो देख।
एक दिन कामयाबी जरूर मिलेगी,
DNM सिस्टम अपना के तो देख।
अगर जीने की तमन्ना हैं,
एक आशा जगा के तो देख।
दुनिया आपका इन्तजार कर रही हैं,
एक बार बाहें फैला के तो देख।।।
JAI DNM
GOOD DNM
…………………………….
Pre. By:–विकास कुमार वर्मा कुन्दनपुरा (हिसार) मोबाइल नंबर 9068218979
….…….…………………..

Leave a Reply